गूगल को क्यों करनी पड़ी 12,000 लोगों की छंटनी? CEO सुंदर पिचाई ने बताई वजह

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक सुंदर पिचाई ने आंतरिक बैठक में बताया कि कर्मचारियों की संख्या में 6% कटौती करने का फैसला लेने से पहले उन्होंने कंपनी के फाउंडर और बोर्ड से राय ली थी.
BQP HindiBQ डेस्क
Last Updated On  24 January 2023, 3:46 PMPublished On   24 January 2023, 3:46 PM
BQP HindiBQP HindiBQP HindiBQP HindiBQP HindiBQP HindiBQP HindiBQP HindiBQP HindiBQP Hindi

IT कंपनियों के लिए साल 2022 किसी बुरे सपने से कम नहीं था. गूगल, मेटा, ट्विटर से लेकर माइक्रोसॉफ्ट को खुद को रेस में बनाए रखने के लिए छंटनी का सहारा लेना पड़ा.

गूगल में छंटनी पर पिचाई की सफाई

गूगल के CEO सुंदर पिचाई को तो 12,000 लोगों की छंटनी पर सफाई भी देनी पड़ी है. पिचाई ने कहा कि कंपनी की हालत और बिगड़े, इससे बेहतर था कि समय रहते फैसला ले लिया गया. अगर ये फैसला नहीं लिया जाता तो परिस्थिति और भी खराब हो सकती थी.

इसलिए लिया छंटनी का फैसला

ब्लूमबर्ग के मुताबिक गूगल की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट इंक के CEO सुंदर पिचाई ने कंपनी की एक आंतरिक बैठक में कहा कि कर्मचारियों की संख्या में 6% कटौती करने का फैसला लेने से पहले कंपनी के फाउंडर और बोर्ड के सदस्यों से राय ली गई थी. पिचाई ने कहा कि अगर ये फैसला नहीं लिया जाता, कंपनी की ग्रोथ धीमी होने के बाद फैसला लिया जाता तो समस्या और बढ़ जाने का खतरा था.

सालाना बोनस काफी कम रहेगा

सुंदर पिचाई ने जोर देते हुए कहा कि गूगल से कर्मचारियों को हटाने का निर्णय काफी सोच विचार कर लिया गया. उन्होंने कहा कि चूंकि बोनस कंपनी के प्रदर्शन से जुड़ा हुआ था, और क्योंकि नेतृत्व को जवाबदेह होने की जरूरत है, इसलिए सभी बड़े अधिकारियों और उससे ऊपर के लोगों को इस साल अपने सालाना बोनस में काफी कमी दिखाई देगी.

बता दें कि गूगल ने शुक्रवार यानी 20 जनवरी को 12 हजार कर्मचारियों को निकालने का फैसला लिया था और कहा था कि इसका बड़ा असर अमेरिका में काम कर रहे गूगल के कर्मचारियों पर ही दिखेगा.
फैसले के बाद गूगल के वर्कफोर्स के साइज पर असर होगा और पहले से छोटा होगा, लेकिन हमारे पास आज भी बेहतर प्रबंधन के लिए 30000 से ज्यादा मैनेजर उपलब्ध रहेंगे.
फियोना सिकोनी, चीफ पीपल ऑफिसर, गूगल

बता दें कि कर्मचारियों को नौकरी से निकाले जाने के बाद गूगल के CEO ने पत्र लिखकर सहानुभूति जताई थी. उन्होंने लिखा था कि अमेरिका में जिन कर्मचारियों की छंटनी की जा रही है उन्हें 2022 के बोनस के साथ बाकी छुट्टियों के पैसे दिए जाएंगे साथ ही 60 दिनों की सैलरी भी दी जाएगी.

BQP Hindi
लेखकBQ डेस्क
BQP Hindi
फॉलो करें