मुश्किल में मनीष सिसोदिया, CBI ने 'फीडबैक यूनिट' जासूसी मामले में दर्ज किया केस

CBI ने दिल्ली सरकार की 'फीडबैक यूनिट' में कथित अनियमितताओं को लेकर मनीष सिसोदिया और अन्य के खिलाफ भ्रष्टाचार का नया मामला दर्ज किया है.
BQP HindiBQ डेस्क
Last Updated On  16 March 2023, 3:05 PMPublished On   16 March 2023, 3:05 PM
Follow us on Google NewsBQP HindiBQP HindiBQP HindiBQP HindiBQP HindiBQP HindiBQP HindiBQP HindiBQP HindiBQP Hindi

दिल्ली के पूर्व उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. CBI ने मनीष सिसोदिया पर दोहरा शिकंजा कस दिया है. CBI ने दिल्ली सरकार की 'फीडबैक यूनिट' में कथित अनियमितताओं को लेकर सिसोदिया और अन्य के खिलाफ भ्रष्टाचार का नया मामला दर्ज किया है.

CBI ने जो FIR दर्ज की है उसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सलाहकार गोपाल मोहन का भी नाम है.

आपको बता दें, बीती 8 फरवरी को CBI ने फीडबैक यूनिट के कथित जासूसी मामले में केंद्रीय गृह मंत्रालय से मनीष सिसोदिया के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग की थी.

क्या है फीड बैक यूनिट

दिल्ली सरकार में मनीष सिसोदिया जब मंत्री थे, तब दिल्ली सरकार में विजिलेंस डिपार्टमेंट उनके पास था, साल 2015 में फीड बैक यूनिट (FBU) का गठन किया गया था. इस यूनिट को बनाने के लिए दिल्ली LG से भी कोई अनुमति नहीं ली गई थी.

CBI के मुताबिक, FBU ने 1 फरवरी 2016 को 17 कॉन्ट्रैंक्ट कर्मियों के साथ काम करना शुरू किया था. यूनिट का उद्देश्य कथित रूप से विभिन्न मंत्रालयों, विपक्षी राजनीतिक दलों, संस्थाओं और व्यक्तियों की जासूसी करना था.

26 फरवरी को दिल्ली आबकारी नीति मामले में गिरफ्तार हुए

मनीष सिसोदिया को CBI ने 26 फरवरी को दिल्ली आबकारी नीति मामले में गिरफ्तार किया था. इस घोटाले की वजह से मनीष सिसोदिया तिहाड़ जेल में बंद है. वहीं, ED ने भी मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार कर लिया है.

BQP Hindi
लेखकBQ डेस्क
BQP Hindi
फॉलो करें